GURU GRAH ASTA 2022 : जाने राशियों पर इसका प्रभाव।

ज्योतिष शास्त्र में बृहस्पति ग्रह को शुभ ग्रह माना जाता है। यह ज्ञान, गुरु, धर्म, विवाह, संतान, वृद्धि आदि का कारक है। ये धनु और मीन राशि के स्वामी हैं। देवगुरु बृहस्पति जहां कर्क राशि में उच्च के होते हैं तो वहीं मकर राशि में ये नीच के माने जाते हैं। 23 फरवरी से देवगुरु बृहस्पति अस्त होने जा रहे हैं। वैदिक ज्योतिष के अनुसार जब भी कोई ग्रह राशि परिवर्तन या अस्त होता है, तो इसका सीधा प्रभाव मानव जीवन पर पड़ता है। यह परिवर्तन किसी के लिए शुभ रहता है तो किसी के लिए अशुभ।

12 राशियों पर इसका प्रभाव:

देवगुरु बृहस्पति के अस्त होने से कर्क, मीन, सिंह और धनु राशि वालों की परेशानी बढ़ने की संभावना है। इन चार राशि के जातकों को इस दौरान किसी भी नए काम की शुरुआत नहीं करनी चाहिए। यदि कर्क, मीन, सिंह और धनु राशि के जातक निवेश की योजना बना रहे हैं तो फिलहाल के लिए रुकना ही बेहतर है। इस दौरान किसी भी वाद-विवाद में न पड़ें। कर्क, मीन, सिंह और धनु राशि वालों को अपने शब्दों पर नियंत्रण करने की आवश्यकता है। इस दौरान आपको आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। पारिवारिक मुश्किलों के कारण मानसिक तनाव हो सकता है।