शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए यह है सबसे आसान तरीका, जानें शनिवार की पूजन विधि |

शनिदेव को क्रोध का देवता माना जाता है लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि वो न्याय के देवता भी हैं इसलिए उनके प्रसन्न करने का सबसे आसान तरीका है कि कभी किसी के साथ अन्याय न करें। साथ ही शनिवार के दिन कुछ काम करने से परहेज भी करना चाहिए।

कई बार लोगों को अपने जीवन में अधिक परेशानियां नजर आने लगती हैं। इन परेशानियों से मुक्ति के लिए वह तई उपाय भी करता है। वह लगातार मेहनत करता है, ताकि उसके घर में सुख-शांति और समृद्धि बनी रहे। लेकिन कभी आपका भाग्य साथ देता है और कभी नहीं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कई बार शनि भारी होने पर इस तरह की परेशानियां हमेशा बनी रहती है।

KRISHNASTROSOLUTIONS

यदि आपके आपके साथ भी कुछ ऐसा ही होता है, तो आपको शनि को शांत करने के लिए कुछ उपाय करने के साथ विशेष पूजन विधि से शनिदेव को प्रसन्न करने का प्रयास करना चाहिए। शनिदेव को कर्मफलदाता कहा जाता है और इनकी पूजा से सभी कष्टों से मुक्ति मिलने के साथ ही सुख की प्राप्ति होती है।

शनिवार की पूजन विधि :

  • इस दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर नित्य क्रिया से मुक्त होकर स्नान करना चाहिए।
  • साफ कपड़े पहनकर पीपल के वृक्ष पर जल अर्पण करें।
  • लोहे से बनी शनि देवता की मूर्ति को पंचामृत से स्नान कराएं।
  • फिर मूर्ति को चावलों से बनाए चौबीस दल के कमल पर स्थापित करें|
  • इसके बाद काले तिल, फूल, धूप, काला वस्त्र व तेल आदि से पूजा करें।

KRISHNASTROSOLUTIONS

शनिवार को ये काम न करें:

  • आपको अगर शनि की विशेष कृपा पानी है, तो आपको शनिवार पर कुछ काम करने से बचना चाहिए, जैसे अगर आप नाखून या बाल काटते हैं, तो शनिदेव आपसे नाराज हो सकते हैं।
  • इस दिन आपको जितना हो सके, उतना दान करना चाहिए। आप मंदिर के अलावा किसी जरुरतमंद व्यक्ति आदि को जरुरत का सामान दान कर सकते हैं।
  • शनिदेव को जानवरों से विशेष लगाव है।शनि को खुश रखने के लिए आपको जानवरों पर अत्याचार नहीं करना चाहिए।साथ ही कुत्तों, गाय, बकरी आदि पशु-पक्षियों को रोटी खिलानी चाहिए।
  • शनिवार को लोहे को घर में लाना वर्जित माना जाता है, अगर आप घर में कोई लोहे का सामान लाने का मन बना रहे हैं, तो आपको इससे बचना चाहिए।

अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करे :9810527992 ,9821314408