MAHAKALESHWAR VISHESH POOJA 2020 : 14 फरवरी महाकालेश्वर की विशेष पूजा में करे यह विशेष उपाय |

उज्जैन के दक्षिण में शिप्रा नदी से थोड़ा दूर उज्जैन का खास आकर्षण यहां का महाकाल मंदिर है। यहां का ज्योतिर्लिग पुराणों में वर्णित द्वादश ज्योतिर्लिगों में से एक है। उज्जैन के प्रसिद्ध महाकाल वन में स्थित महाकाल की महिमा प्राचीन काल से ही दूर-दूर तक फैली हुई है।

krishnastrosolutions

 शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है महाकाल मंदिर। शिवपुराण में वर्णित कथा के अनुसार दूषण नामक दैत्य के अत्याचार से जब उज्जयिनी के निवासी त्रस्त हो गए तो उन्होंने अपनी रक्षा के लिए शिव की आराधना की। आराधना से प्रसन्न होकर शिवजी ज्योति के रूप में प्रकट हुए। दैत्य का संहार किया और भक्तों के आग्रह पर लिंग के रूप में उज्जयिनी में प्रतिष्ठित हो गए।

कुंडली विश्लेषण के लिए संपर्क करे

इस दिन करे यह उपाय:

कालसर्प दोष :

इस दोष के निवारण के लिए इस दिन कालसर्प दोष यन्त्र की अभिमंत्रित पूजा करवाए और मुहूर्त अनुसार उस यन्त्र की स्थापना अपने घर में करे|

कुंडली विश्लेषण के लिए संपर्क करे

राहु ग्रह दोष :

इस दिन अपनी कुंडली अनुसार राहु ग्रह की शांति करवाए और राहु यन्त्र की स्थापना करे|

कुंडली विश्लेषण के लिए संपर्क करे

केतु ग्रह दोष :

इस दिन अपनी कुंडली अनुसार केतु ग्रह की शांति करवाए और केतु यन्त्र की स्थापना करे|

अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करे :9810527992 ,9821314408