Jaya Ekadashi 2020: इस दिन है जया एकादशी व्रत, जानें व्रत से जुड़े नियम और कथा |

व्रतों में सर्वश्रेष्ठ कहे गए एकादशी के व्रत के समान कोई अन्य व्रत नहीं। इसे स्वयं भगवान श्रीकृष्ण ने व्रतों में राजा कहा है। प्रत्येक एकादशी व्रत किसी न किसी श्रेष्ठ उद्देश्य की पूर्ति करने में सहायक होता है। माघ माह के शुक्ल पक्ष में आने वाली जया एकादशी समस्त एकादशियों में बहुत महत्वपूर्ण मानी गई है क्योंकि यह सर्वत्र जीत दिलाती है। जया एकादशी के बारे में कहा जाता है कि जहां मनुष्य का भाग्य भी साथ नहीं देता, वहां जया एकादशी का व्रत प्रत्येक काम में जीत दिलाने में मदद करता है। जया एकादशी 5 फरवरी 2020 बुधवार को आ रही है। इस एकादशी के दिन गन्ने के रस का फलाहार किया जाता है।

krishnastrosolutions

जया एकादशी मुहूर्त:

एकादशी तिथि प्रारंभ –  04 फरवरी, 21:51:15 बजे से
एकादशी तिथि समाप्त -05 फरवरी, 21:32:38 बजे तक
जया एकादशी पारणा मुहूर्त : 06 फरवरी, 07:06:41 से 09:18:11 बजे तक
अवधि :2 घंटे 11 मिनट

krishnastrosolutions

ऐसे करें जया एकादशी व्रत :

  • इस दिन भगवान विष्णु के लिए व्रत किया जाता है।
  • इस दिन ये उपाय करेंगे तो आपकी किस्मत चमक सकती है।
  • इस दिन किए गए उपायों से भाग्य दोष दूर होते हैं।
  • भगवान विष्णु के साथ ही देवी लक्ष्मी की कृपा भी प्राप्त की जा सकती है।
  • भगवान विष्ण़ु को पीले फूल अर्पित करें।
  • घी में हल्दी मिलाकर भगवान विष्ण़ु का दीपक करें।
  • पीपल के पत्ते पर दूध और केसर से बनी मिठाई रखकर भगवान को चढ़ाएं।
  • एकादशी की शाम तुलसी के पौधे के सामने दीपक जलाएं।
  • भगवान विष्णु को केले चढ़ाएं और गरीबों को भी केले बांट दें।
  • भगवान विष्णु के साथ लक्ष्मी का पूजन करें और गोमती चक्र और पीली कौड़ी भी पूजा में रखें।

krishnastrosolutions

जया एकादशी के प्रभाव:

  • जया एकादशी व्रत करने नीच योनि से मुक्ति मिलती है।
  • जिस कार्य की सफलता का संकल्प लेकर यह व्रत किया जाए, वह अवश्य पूरा होता है।
  • यह एकादशी मनुष्य के भाग्य को प्रबल बनाती है।
  • धन-संपत्ति, सुख, वैभव की प्राप्ति होती है।
  • भगवान विष्णु की कृपा से मोक्ष प्राप्त होता है।

 

अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करे :9810527992 ,9821314408