कल मंगल का होगा राशि परिवर्तन, राशियों पर इसका शुभ अशुभ असर |

महान पराक्रमी ग्रह पृथ्वीपुत्र मंगल 10 नवंबर को दोपहर बाद 2 बजकर 21 मिनट पर कन्या राशि की यात्रा समाप्त करके तुला राशि में प्रवेश कर रहे हैं, जहां ये 25 दिसंबर तक विराजमान रहेंगे। तुला राशि में पहले से ही वक्री बुध सूर्य के साथ विराजमान हैं। इस प्रकार से कुछ दिनों के लिए तुला राशि में तीन ग्रहों का संयोग बना हुआ है, इस राशि के लिए मंगल का फल मिलाजुला रहता है। लग्न कुंडली के अनुसार मंगल तुला लग्न के लिए मारकेश होते है।

krishnastrosolutions

फलित ज्योतिष में मारकेश का तात्पर्य होता है मरणतुल्य कष्ट देने वाला।  16 नवंबर की रात्रि सूर्यदेव के वृश्चिक राशि में प्रवेश के साथ ही ये त्रिग्रही योग भी भंग हो जाएगा लेकिन मंगल और बुध की युति 5 दिसंबर तक बनी रहेगी। जब मंगल और सूर्य एक साथ मिलते हैं तो अंगारक योग बनता है जिसके फलस्वरूप समाज में अराजकता बढ़ने का खतरा रहता है, प्राकृतिक आपदाओं में भी बढ़ोतरी होती है। अग्निकांड की अधिकता रहती है इसलिए वक्री बुध का मंगल और सूर्य के साथ तुला राशि में आना देश एवं समाज के लिए सावधानी एवं संयम बरतने के संकेत दे रहा है। मंगल का तुला राशि में प्रवेश एवं सूर्य और बुध के साथ उनकी युति का सभी 12 राशियों पर प्रभाव कैसा रहेगा, इसका ज्योतिषीय विश्लेषण करते हैं।

मेष राशि- सप्तम भाव में यह युति व्यापार की दृष्टि से थोड़ा उथल-पुथल लाएगी यदि आप स्टॉक मार्केट में निवेश करते हैं तो बाजार का रुख देखकर अति सावधानीपूर्वक निवेश करें। विवाह संबंधी वार्ता थोड़ा आगे बढ़ सकती है। मकान वाहन के क्रय का संयोग बन रहा है लाभ उठाएं।

वृषभ राशि- आपके शत्रुभाव में इन ग्रहों का पहुंचना कोर्ट-कचहरी के मामलों से मुक्ति दिला सकता है, बेहतर रहेगा कि मामले बाहर निपटाने का प्रयास करें। ननिहाल पक्ष से कुछ अशुभ समाचार मिल  सकता है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें अधिक व्यय से आर्थिक तंगी रहेगी सावधान रहें।

मिथुन राशि- पंचम भाव में ये युति शिक्षा प्रतियोगिता में आशातीत सफलता दिलाएगी। संतान संबंधी चिंता तो दूर होगी ही प्राप्ति अथवा प्रादुर्भाव के भी योग बन रहे हैं। इन ग्रहों की लाभभाव पर दृष्टि नौकरी में उन्नति एवं रुका हुआ धन दिलाने में मदद करेगी।

krishnastrosolutions

कर्क राशि- चतुर्थ भाव में यह संयोग आपको मानसिक कष्ट तो दिलाएगा किंतु अपनी जिद एवं आवेश पर नियंत्रण रखते हुए कार्य करेंगे तो कामयाबी भी बड़ी मिलेगी। कर्मभाव पर इन ग्रहों की दृष्टि के प्रभावस्वरूप रोजगार में उन्नति, नई सर्विस के लिए आवेदन करना बेहतर रहेगा।

सिंह राशि- आपके लिए इन ग्रहों का संयोग शौर्य एवं साहस की वृद्धि कराएगा। किसी भी तरह का बड़े से बड़ा कार्य अथवा व्यापार आरंभ करना चाह रहे हों तो ग्रह स्थितियां अनुकूल हैं। प्रयास करें कि भाइयों में मतभेद न पैदा होने पाए, लेन-देन के मामलों में सावधानी बरतें|

कन्या राशि- धन भाव में मंगल का अन्य ग्रहों के साथ संयोग आर्थिक पक्ष को मजबूत करेगा किंतु, दाहिनी आंख पर इसका दुष्प्रभाव रहेगा इसलिए स्वास्थ्य के प्रति चिंतन शील रहें। अष्टम भाव पर इनकी दृष्टि के परिणाम स्वरूप षडयंत्र का शिकार होने से बचे। वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं।

तुला राशि- आपके लिए यह युति कई मायनों में अच्छे परिणाम दिलाएगी। आय के एक से अधिक साधन बनेंगे। भाग्य उन्नति के अवसर आएंगे। प्रभाव में वृद्धि होगी। किंतु कोई भी कार्य जबतक पूर्ण न हो उसे सार्वजनिक न करें, अन्यथा बाधा आ सकती है विवाह संबंधित वार्ता सफल रहेगी।

krishnastrosolutions

वृश्चिक राशि- हानिभाव में इन ग्रहों का मिलना भागदौड़ और खर्च में व्यस्त रखेगा। कोर्ट-कचहरी के मामलों आपके पक्ष में आने के संकेत है। विदेशी मित्रों अथवा संबंधियों से सहयोग प्राप्त होगा किंतु, उच्चाधिकारियों से मधुर संबंध बनाकर रखें। माता पिता के स्वास्थ्य के प्रति सजग रहें।

धनु राशि- आपके लाभभाव में तीन ग्रहों का एक साथ आना भाग्य उन्नति तो देगा ही साथ ही पद और गरिमा की वृद्धि कराएगा। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी। यात्रा का भी योग बनेगा, यही संयोग शिक्षा प्रतियोगिता में सफलता और संतान संबंधी चिंता से मुक्ति दिलाएगा।

मकर राशि- कर्मभाव में इन ग्रहों का मिलना अच्छा संयोग। नई सर्विस हेतु आवेदन करें, समाज के संभ्रांत लोगों से मेलजोल बढ़ेगा किंतु चतुर्थ भाव पर इनकी दृष्टि के प्रभाव स्वरूप पारिवारिक कलह से मन अशांत रहेगा। मकान वाहन के क्रय का योग बना हुआ है निर्णय शीघ्रता से करें।

कुंभ राशि- भाग्य भाव में इन ग्रहों का एक साथ आना उतार-चढ़ाव और कार्य में कुछ विलंब के संकेत कर रहा है किंतु, सूर्य के राशि परिवर्तन के साथ ही ये दुष्प्रभाव कम हो जाएगा। इसके बाद भाग्य उन्नति के अवसर भी आएंगे और यात्रा-विदेश यात्रा का संयोग भी बनेगा।

मीन राशि- आपके लिए ये समय सावधान रहने का है। वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं। कोर्ट कचहरी के मामले को बाहर ही निपटा लें तो बेहतर रहेगा। पेट संबंधी विकारों से बचें। बेहतर रहेगा कार्य क्षेत्र से कार्य संपन्न करके सीधे घर आएं, विवादों से बचें। 16 नवंबर से सुधार आ जाएगा।

अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करे :9810527992 ,9821314408